महिला समानता दिवस कब और क्यों मनाया जाता है ? जाने इतिहास

महिला समानता दिवस ( Women’s Equality Day ) हर साल 26 अगस्त को विश्वभर में महिलाओं की आजादी और समानता के प्रति समाज को जागरुक करने के लिए मनाया जाता है।

सबसे पहले शुरुआत

न्यूजीलैंड विश्व का पहला देश है, जिसने 1893 में महिला समानता की शुरुआत की। अमरीका में ’26 अगस्त’, 1920 को 19वें संविधान संशोधन के माध्यम से पहली बार महिलाओं को मतदान का अधिकार मिला। इसके पहले वहाँ महिलाओं को द्वितीय श्रेणी नागरिक का दर्जा प्राप्त था।

भारत में महिला समानता

भारत में आज़ादी के बाद से ही महिलाओं को वोट देने का अधिकार प्राप्त तो था, लेकिन पंचायतों तथा नगर निकायों में चुनाव लड़ने का क़ानूनी अधिकार 73वे संविधान संशोधन के माध्यम से प्रधानमंत्री राजीव गाँधी के प्रयास से मिला। इसी का परिणाम है की आज भारत की पंचायतों में महिलाओं की 50 प्रतिशत से अधिक भागीदारी है।

यह भी पढ़ें -

पॉपुलर स्टोरी