शॉर्ट वीडियो देखने की आदत है तो हो जाएं सावधान!

जब आप खाली समय मे बैठे होते हो तो क्या करते हो?

ज्यादातर लोग सोशल मीडिया की दुनिया में शॉर्ट वीडियो और रील्स देखने लग जाते हैं। क्या आपको पता है यह आपकी मेंटल हेल्थ के लिए कितना खतरनाक है। शॉर्ट्स वीडियो के कारण आजकल हमारा सोशल मीडिया की तरह रुख ज्यादा ही हो गया है जो हमारी दैनिक जीवनचर्या को भी प्रभावित करता है।

कैसे है खतरनाक

हमारे बार-बार शॉर्ट्स वीडियो देखने से हमारी ब्रेन पावर कम होती है। हमारा ब्रेन इस प्रकार कार्य करने लग जाता है कि कोई लॉन्ग वीडियो या इंपॉर्टेंट वीडियो को देखने या किताबें पढ़ने मैं समस्या का सामना करना पड़ता है। लॉन्ग वीडियो को एक साथ देखने में बहुत समस्या होती है क्योंकि शॉर्ट्स वीडियो देखने से ब्रेन को हर कुछ सेकंड में कुछ नया चाहिए। इस प्रकार हमारा ब्रेन कार्य करने लगता है।

युवाओं के लिए खतरनाक

इससे हम अपने लक्ष्य पर ध्यान नहीं दे पाते हैं यह हमारे युवा वर्ग के लिए बहुत ही खतरनाक है। शॉर्ट वीडियो के कारण लोगों को सोशल मीडिया की लत लग जाती है। इससे एक मनोवैज्ञानिक घटना भी पैदा हो जाती है तथा हमारे मस्तिष्क की प्रेरक प्रणाली बहुत प्रभावित होती है।

हो सकती है बीमारी

अगर हम शॉट्स वीडियो देखते रहे तो हमारी याददाश्त क्षमता भी कम होने लग जाएगी। आजकल शॉर्ट्स वीडियो के कारण लोग सोशल मीडिया पर सक्रिय बहुत रहते हैं। इस कारण उनको कुछ समय बाद डिप्रैशन एंजायटी साइबर बुलीइंग जैसी अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

कैसे दूर रहें –
हम कभी-कभी सोचते हैं यह सोशल मीडिया से दूर होने की कोशिश करते हैं। लेकिन शॉट्स वीडियो के कारण सोशल मीडिया से दूर नहीं जा पाते। इसके लिए हमें मोबाइल का यूज कम करना चाहिए तथा किताबें न्यूज़पेपर जैसी सामग्री को अपने दैनिक जीवनचर्या का हिस्सा बनाना चाहिए तथा अपने आपको अपने लक्ष्य में व्यस्त रखने की कोशिश करें।

लेखन – अशोक चौधरी

यह भी पढ़ें -

पॉपुलर स्टोरी